आज प्रातः 9ः00 बजे दक्षिणी दिल्ली सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने उपायुक्त दक्षिण क्षेत्र नगर निगम व सम्बंधित अधिकारियों और दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (क्न्ैप्ठ), दिल्ली जल बोर्ड, सिंचाई एवं बाढ नियंत्रण विभाग अधिकारियों के साथ देवली विधान सभा क्षेत्र स्थित तिगड़ी पुनर्वास काॅलोनी, जे.जे काॅलोनी, तिगड़ी एक्स. व मुख्य मार्ग सहित देवली एक्सटेंशन में जनसमस्याओं, सफाई व्यवस्था और विकास कार्यों को लेकर दौरा किया।

सांसद ने क्षेत्र में स्वच्छता को प्राथमिकता देते हुए पार्कों, सड़कों, गलियों व नालियों की स्थिति का जायजा लिया। जहाॅं इनके हालात बद से बदतर पाये गए। मानसून के वक्त में जर्जर सड़कों व गलियों में जलभराव व अत्याधिक कीचड़ के जमा होने से स्थानीय लोगों को आवा-गमन में गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, लोग दयनीय स्थिति के कारण सांसद के समक्ष अपनी परेशानियों का बखान कर रहे थे। बिधूड़ी ने मौके पर कार्यवाही करते हुए लोगों की इस समस्या का निश्चित समय में समाधान करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। इसके बाद सांसद ने तिगड़ी जे.जे. कैम्प, तिगड़ी पुनर्वास काॅलोनी, तिगड़ी एक्सटेंशन, देवली एक्सटेंशन क्षेत्र में जहाॅं दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (क्न्ैप्ठ) के द्वारा पार्क बनाए जाने थे, उन स्थलों पर गंदगी, कूड़े का अंबार देखने को मिला, सांसद ने डूसिब विभाग अधिकारियों को उक्त कार्यों को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए, जिस पर अधिकारियों ने कार्यों को आगामी दो माह में पूरा करने का आश्वासन दिया।

इस दौरान तिगड़ी में कोविड जाॅंच केन्द्र के बन्द किए जाने का मामला स्थानीय लोगों के माध्यम से सांसद महोदय के संज्ञान में लाया गया, जिसे बिधूड़ी के प्रयास से तिगड़ी वार्ड डी-ब्लाॅक नगर निगम डिस्पेंसरी में कोरोना मरीजों की जाॅंच व उनकी सहूलियत के लिए खुलवाया गया था। वर्तमान में चल रही कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सांसद ने तत्काल अधिकारियों सहित उक्त निशुल्क कोविड जाॅंच केन्द्र का जायजा लिया और मौके पर प्रशासन से बात कर पुनः केन्द्र को चालू करवाया। इस मौके पर बिधूड़ी ने लोगों को बताया कि माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी द्वारा दिल्ली की कमान संभालने के बाद दिल्ली में 20 हजार बेड की व्यवस्था की गई, 169 कोविड जाॅंच केन्द्र खोले गए जहाॅं लोगों की निःशुल्क कोरोना जाॅंच हो सके क्योंकि गरीब लोगों के लिए 4500 रूपये कोविड जाॅंच का खर्च भारी था। आज 31 जुलाई है और कोरोना बीमारी के तेजी से फैलने की स्थिति नियंत्रण में है, रिकवरी रेट 88 प्रतिशत से ऊपर हो गया है। इससे पूर्व 15 जून को दिल्ली का कोरोना रिकवरी रेट 38.35ः था, तब दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने दिल्ली वासियों को दहशत में डालते हुए कहा था कि दिल्ली में 31 जुलाई तक साढ़े पाॅंच लाख कोरोना केस आने का अनुमान है। बिधूड़ी ने कहा कि उस समय के दिल्ली के हालात किसी से छिपे नहीं, अस्पतालों में मरीजों की बदतर स्थिति के चलते तकरीबन 500 लोग परिवार के ऐसे थे जिन्होंने बगैर इलाज के अपनी जान गवां दी।