दक्षिणी दिल्ली सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने महात्मा गांधी जयंती को महरौली जिले में 75 कि0मी0 साइकिल यात्रा पूर्ण करने के बाद आज दूसरे दिन दक्षिण जिले में 75 वर्ष अमृत महोत्सव पर 75 कि0मी0 की साइकिल तिरंगा यात्रा शहीद भगत सिंह चौक जैतपुर गॉंव (बदरपुर विधान सभा) में प्रातः 8ः00 बजे शहीद भगत सिंह जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता एवं भाजपा कार्यकर्ताआंे के साथ प्रारंभ की।

यह यात्रा बदरपुर विधान सभा क्षेत्र से तुगलकाबाद विधान सभा, कालकाजी विधान सभा व संगम विहार विधान होते हुए देवली विधान सभा पहॅुची जहॉं सांगवान बारात घर बांध रोड़ देवली में यात्रा का समापन किया गया। यात्रा मार्ग पर जगह-जगह क्षेत्रवासियों ने अपने पूर्ण हर्षोल्लास के साथ सांसद बिधूड़ी को फूल-मालाएं पहनाकर व पुष्प वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया।

इस अवसर पर रमेश बिधूड़ी ने कहा कि हम भारत वासियों का यह सौभाग्य है कि हमें देश के प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी जी का नेतृत्व मिला है। बिधूड़ी ने बताया कि आजादी के 65 साल तक ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की जाती रही कि एक ही परिवार व एक ही खानदान ने इस देश को स्वतंत्रता दिलाई। देश के हजारों शहीद वीर जवानों की कुर्बानियों को याद तक नहीं किया गया जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया, जो अपने घर, परिवार, बच्चों की परवाह किए बगैर हजारों मिल दूर सरहदों पर देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए। लेकिन देश के यशस्वी प्रधानमंत्री जी ने दिल्ली में इंडिया गेट पर शहीदों को सम्मानित करने के लिए नेशनल वॉर मेमोरियल बनवाने का काम किया, जिससे कि राष्ट्र के लिए उनकी कुर्बानियों को सदैव याद किया जाता रहे। प्रधानमंत्री जी के आग्रह अनुसार सभी सांसद गली-गली जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि देने व उन्हें नमन करने और उनके परिवारों को सम्मान देने के लिए यह साइकिल यात्रा निकाली जा रहीं है और आजादी के 75 वर्ष को अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। बिधूड़ी ने कहा कि निश्चित रूप से हम ऋणी हैं उन शहीद वीर सेनानियों के जिन्होंने अपना जीवन का बलिदान देकर इस देश में लोकतंत्र बहाल कराया। जिससे आज देश के नागरिक अपनी इच्छा से क्षेत्र का प्रतिनिधि चुनते हैं, अपनी समस्या का समाधान करवाते हैं, तभी एक गरीब का बेटा इस देश के प्रधानमंत्री बनकर एक सेवक के रूप में गरीब, मजदूर, किसान, दलित, वंचित, कमजोर वर्ग की चिंताओं का समाधान व उनकी आवश्यकताओं की पूर्ति कर रहे हैं और उनके मजबूत नेतृत्व में आज भारत सशक्त व आत्मनिर्भर बन रहा है।