2018

12.04.2018 PRESS RELEASE UPWAS

By April 12, 2018 October 19th, 2021 No Comments

दक्षिणी दिल्लीः आज दिनांक 12 अप्रैल, 2018 को दक्षिणी दिल्ली सांसद श्री रमेश बिधूड़ी, के नेतृत्व में जिला दक्षिणी दिल्ली के गोविन्दपुरी, कालकाजी में व महरौली जिले के भूल-भुलैया आदि स्थलों पर कांग्रेस द्वारा संसद में गतिरोध उत्पन्न कर देश की विकास यात्रा को बाधित करने के विरोध में व लोकतंत्र की रक्षा हेतु उपवास/धरना आयोजित किया गया।

इस एक दिवसीय उपवास के माध्यम से सांसद महोदय ने लोगों को कांग्रेस की रीति-नीति की सही पहचान कराते हुए अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस के अलोकतांत्रिक रवैये और संकुचित मानसिकता का परिचय काफी लम्बे समय हम लोग देख रहे हैं। देश की 70 वर्ष की आजादी में (आर्टिकल 356) का कांग्रेस ने 110 बार दुरूपयोग कर राज्यों की सरकारों को बर्खास्त किया, तथा जिसकी अपातस्थिति का हाल किसी से छुपा हुआ नही है, कि कांग्रेस के तानाशाही रवैये के कारण कितने लोगों को जेलों में ठूस दिया गया था। अब कांग्रेस सत्ता से दूर हो गई है तो इस बात को नही पचा पा रही है कि अगर लोकतांत्रिक पद्धति इस देश में यूॅं ही बहाल रही तो कांग्रेस का अस्तित्व नेस्तनाबूद हो जाएगा, इसी डर की वजह से कांग्रेस लोकतांत्रिक प्रणाली के सिद्धांतों को ध्वस्त करने पर उतारू है। उन्होंने कहा कि संसद सत्र में बार-बार स्पीकर और पार्लियामेन्ट मिनिस्टर के कहने के बावजूद कांग्रेस ने 23 दिन तक लगातार पार्लियामेन्ट को नही चलने दिया, क्योंकि लोकतंत्र में चुनी हुई सरकार और उसके चुने हुए सांसद अपने क्षेत्र की समस्याएॅं रखते और सरकार अनेकों प्रकार के बिल, उनके वित्तीय बिल से लेकर व डिमांड-ग्रान्ट आदि को पूरा करने के लिए चर्चा होती, तीन तलाक के मुद्दे पर चर्चा होती, ओ.बी.सी. कम्युनिटी को ओबीसी कमीशन में एक सैद्धांतिक रूप से अधिकार मिल जाए उस बिल पर चर्चा होती, और बिल पास होते, वो कांग्रेस ने इसलिए नही होने दिए, कि जो मोदी सरकार के चार साल के काम हैं वो चर्चा में सामने आएगें और देश को पता लगेगा, कांग्रेस की इस हताशा के कारण 23 दिन तक लगातार पार्लियामेन्ट को चलने नही दिया, ना देश के विकास में कोई काम होने दिए और ना ही बिलों को पास होने दिया।

बिधूड़ी ने कहा कि देश के सवा सौ करोड़ वासियों के बीच जाकर भारतीय जनता पार्टी ने लोकतंत्र की रक्षा व कांग्रेस की जनकल्याण विरोधी मानसिकता को उजागर करने के लिए यह उपवास कार्यक्रम रखे हैं। महात्मा गॉंधी जी ने भी शांतिपूर्वक रूप से लोगों को जोड़ा था और अंग्रेजो को बाहर भगाने का एक अच्छा प्रयास किया, जिससे सब लोग जुड़े। उन्होंने कहा कि इस उपवास के माध्यम से एक दिन का जो धरना रखा है वो कहीं ना कहीं कांग्रेस को सद्बुद्धि देगा, और देश के लोकतांत्रिक सिस्टम और देश की आजादी को लेकर जिन लोगों ने अपने प्राण दिए थे कि देश में लोकतंत्र बहाल हो और अंग्रेजों का तानाशाह शासन चला जाए, लेकिन आज उन लोगों की आत्मा क्या कह रही होगी कि कांग्रेस उनके सपनों को चकनाचूर कर रही है। बिधूड़ी ने कहा कि देश में लोकतांत्रिक पद्धति रहेगी तो गरीब का बेटा भी अपने अधिकारों से वंचित नही रहेगा, अन्यथा लोकतांत्रिक पद्धति खत्म होने के बाद, और बाबा भीमराव अम्बेडकर के संविधान को नेस्तोनाबूद कांग्रेस करना चाहती है एक परिवारवाद के कारण, तो देशवासी इस बात को देखें, समझें कि यह इस देश के लोकतंत्र की ही ताकत है जो एक गरीब पिता का बेटा भी देश का प्रधानमंत्री बन सकता है। सवा सौ करोड़ लोगों के हितों की व अधिकारों की रक्षा लोकतंत्र के माध्यम से ही मिल सकती है ना कि तानाशाही के माध्यम से।

इस दौरान दिल्ली प्रदेश मंत्री श्री विक्रम बिधूड़ी, निगम पार्षद श्री रणवीर तंवर, श्री इन्द्रजीत सहरावत, श्री रविन्द्र गोदारा, श्री अमन कुमार, श्री दीपक जैन, श्री रोहताश बिधूड़ी (टीटू) सहित भाजपा जिला पदाधिकारी, मंडल अध्यक्षों एवं भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपना सहयोग किया।