दक्षिणी दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी ने संसदीय क्षेत्र की विधान सभाओं में अपनी किसान कल्याण कानून समर्थन यात्राओं को जारी रखते हुए आज छत्तरपुर विधान सभा में यात्रा निकाली।

छत्तरपुर 100 फीट रोड़ से यात्रा प्रारंभ करने के दौरान सांसद रमेश बिधूड़ी ने सैकड़ों की संख्या में यात्रा में शामिल लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषि कानून बिल के समर्थन में हम पिछले 4 दिनों से संसदीय क्षेत्र के गाॅंवों में पदयात्राएॅं कर रहे है और गाॅंववासियों, किसानों तथा जो बाहर से आकर दिल्ली में रह रहे लोग जिनकी गाॅंव में जमीने हैं, उनका समर्थन माॅंग रहे हैं, गाॅंव-गाॅंव जाकर उनको बता रहे हैं कि यह कृषि बिल पूर्णतः किसानों के हित में है, उनके जीवन में खुशहाली लाने वाला बिल है। इस बिल के फायदों की सही जानकारी उन तक पहॅुचे यह प्रयास यात्राओं के माध्यम से किया जा रहा हैं। बिधूड़ी ने आगे कहा कि यह हमारे लिए प्रसन्नता का विषय है कि गाॅंव का किसान बिल के समस्त फायदों को जान रहा है और इस बिल को अपना भरपूर समर्थन कर रहा है और साथ ही राजनैतिक दलो द्वारा कृषि कानून पर फैलाये जा रहे भ्रम व झूठ को भली-भांति समझ रहा है। बिधूड़ी ने आगे कहा कि देश के किसानों की उन्नति हो यह संकल्प देश के माननीय प्रधानमंत्री जी ने लिया है। देश का किसान सशक्त बने और अपना जीवन बगैर कठिनाईयों के सम्मान के साथ जिये इस उद्देश्य को लेकर किसानों की पीड़ा को समझते हुए मोदी जी ने किसानों के उत्थान की विभिन्न योजनाएं चलाई हैं कृषि मशीनरीकरण योजना, फसल बीमा योजना, साॅईल हेल्थ कार्ड, किसान सम्मान निधि आदि के अलावा अनेक प्रकार की योजनाओं के माध्यम से किसानों को सशक्त करने का प्रयास किया है। इस मौके पर बिधूड़ी ने प्रसन्नता के साथ किसानों को इस बात की जानकारी दी कि कल 25 दिसम्बर को देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी दोपहर 12ः00 बजे देश के 14.5 करोड़ किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि की सातवीं किश्त 18 हजार करोड़ रूपये डालेंगे। इसी के साथ बिधूड़ी ने इस यात्रा के माध्यम से दक्षिणी दिल्ली क्षेत्रवासियों को कल 25 दिसम्बर को प्रातः 11ः00 बजे देश के गृह मंत्री माननीय श्री अमित शाह जी के महरौली आगमन की जानकारी भी दी जिसके बाद उपस्थित लोगों व भाजपा कार्यकर्ताओं का उत्साह व जोश दोगुना देखने को मिला।

किसान कल्याण कानून समर्थन यात्रा छतरपुर गाॅंव से प्रारम्भ होकर मैदान गढ़ी, राजपुर खुर्द, गोविंद सदन, होते हुए चांदन होला गाँव पहुँची जहाॅं जनता में आत्मविश्वास व प्रसन्नता देखने को मिली जिससे स्पष्ट है कि जनता ने मोदी जी पर भरोसा करते हुए नए कृषि कानूनों का स्वागत किया है। इसके बाद असोला होते हुए फत्तेपुर गाँव में पदयात्रा समाप्त कर सांसद बिधूड़ी डेरा गाॅंव पहॅुचे जहाॅं मांडी गाॅंव, छोटा व बड़ा बांस गाॅंव की आयोजित महापंचायत को सम्बोधित किया। इस दौरान बिधूड़ी ने कृषि कानून बिल पर विरोधियों द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम का पर्दाफाश करते हुए कहा कि कुछ लोग किसानों के कंधे पर बंदूक रख के अपनी राजनैतिक रोटी सेक रहे हैं। हमारे देश की आबादी 130 करोड़ है। 80 प्रतिशत किसान देश में हैं और जिनमें केवल ढाई-तीन हजार लोग ही दिल्ली के चार बाॅर्डरों पर बैठे हुए हैं, वो किसान अपने आपको बता रहे हैं, जबकि उनमें कुछ ही मात्रा में किसान हैं, बाकी वह लोग हैं जिनकी राजनीतिक जमीन पूर्व में खिसक गई है वह किसानों के माध्यम से अपनी खोई हुई जमीन तलाशना चाहते हैं, कांगे्रस को देश ने नकार दिया, वामपंथियों का कोई अता-पता नहीं हैं। उन्होंने आगे कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार गरीब, मजदूर, किसान, दलित आदि कमजोर वर्ग के उत्थान के लिए हमेशा समर्पित रही है और पिछले 6 वर्षों से सरकार की योजनाओं का लाभ उन तक पहॅुचाती रही है। चाहें वो जनधन योजना हो, एक समय था जब गरीब व्यक्ति बैंकों की दहलीज तक जाने से झिझकता था, क्योंकि वह गरीब थे उनके पास पैसा नहीं था, बैंकों मंे अधिकांश उद्योग पतियों खाते ही होते थे। लेकिन 2014 में देश में मोदी सरकार बनते ही प्रधानमंत्री जी ने गरीबों के उत्थान का मार्ग खोला। उन्होंने गरीब आदमी को यह अधिकार दिया कि जीरो बैलेंस पर भी उनका खाता बैंक में होगा, आज देश में 39 करोड़ गरीब लोगों के जनधन खाते बैंकों में जीरो बैलेंस पर खुले हुए हैं, जिनमें सरकार की विभिन्न योजनाओं का पूरा लाभ सीधे उनके खाते में पहॅंुचता है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी में जब गरीब व्यक्ति बगैर कामकाज के अपने आपको असहाय महसूस कर रहा था तब 20 करोड़ गरीब, मजदूर जनधन खाता धारकों तक सहायता के रूप पैसा पहॅंुचाने का कार्य स्वयं प्रधानमंत्री जी ने किया। बिधूड़ी ने आगे बताया कि देश का 80ः किसान जिनके पास एक से 2 एकड़ भूमि है, हम सब जानते हैं कि एक छोटा किसान ना तो ट्रैक्टर खरीद सकता है, ना ही बैल खरीद सकता है, वह बीज, खाद, बुवाई, जुताई व सिंचाई में होने वाले खर्च के लिए भी गांव के साहूकार जैसे व्यक्तियों पर निर्भर है। फसल की कटाई के बाद जब वह अपना अनाज मंडी में जाकर बेचता है। जिसका वह पूरा दाम भी नहीं पाता और फिर ऋण भी नहीं चुका पाता है। उसे साहूकार के हाथों अपनी जमीन गंवानी पड़ जाती है, ऐसे किसानों के लिए यह बिल लाया गया है। आदरणीय मोदी जी ने किसान की इस पीड़ा को समझते हुए किसान सम्मान निधि की घोषणा की जिससे वह किसी पर निर्भर ना रहते हुए इस राशि का उपयोग खेती में होने वाले व्यय के लिए खर्च कर सके और सम्मान के साथ अपना जीवन-यापन कर पाये।

पानी की समस्या को लेकर दक्षिणी दिल्ली के वसंत स्थित जल बोर्ड कार्यालय पर विरोध-प्रदर्शन…

आज दक्षिणी दिल्ली सांसद रमेश बिधूड़ी व जिला अध्यक्ष महरौली भाजपा जगमोहन महलावत के नेतृत्व में कुसुूमपुर पहाड़ी, रजोकरी बी.एस.ई.एस व जय हिंद कैम्प महरौली के सैंकड़ों की संख्या में स्थानीय लोगों ने क्षेत्र में पानी की गंभीर समस्या को लेकर वसंत कुंज स्थित दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर पर विरोध-प्रदर्शन कर केजरीवाल सरकार के खिलाफ रोष प्रकट किया। इस समस्या के मद्देनजर स्थानीय लोगों का आरोप है कि जलबोर्ड द्वारा पिछले 15 दिनों से प्लास्टर इलाकों में पानी की सप्लाई नहीं दी जा रही है।

इस दौरान सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि 15 दिन से पीने के पानी की सप्लाई का बन्द किया जाना यह क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत ही चिंताजनक विषय है बगैर पेयजल के कोई कैसे रह सकता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री को लोगों की पीड़ा देखनी चाहिए क्योंकि वह दिल्ली जलबोर्ड के स्वयं अध्यक्ष भी हैं। रमेश बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल पैसे खाकर जल बोर्ड का निजीकरण कर रहे हैं, और आम आदमी पार्टी के विधायक मुफ्तखोर हो गए हैं जो राजधानी दिल्ली के अंदर काम नहीं करना चाहते, लोग पानी की गंभीर समस्या से पिछले 15 दिनांे से जूझ रहे है इस ओर ना ही जलबोर्ड के अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान दिया जा रहा है। सांसद ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चुनौती दी कि वह इस समस्या का समाधान शीघ्रातिशीघ्र करें।