आज दिनांक 31 मई 2016 को दक्षिणी दिल्ली सांसद, श्री रमेश बिधूड़ी जी व दिल्ली प्रदेश संगठन महामंत्री, श्री सिद्धार्थन जी के नेतृत्व में दिल्ली सरकार के घोषणा पत्र में ‘70 वायदों’ के अनुसार 56वें नम्बर पर अनधिकृत कालोनीयों के नियमितीकरण हेतु दिल्ली की जनता से किये गए वायदे का स्मरण कराने व उसे पूर्ण करवाने के माध्यम से मुख्यमंत्री दिल्ली, आवास पर हजारों की संख्या में दक्षिणी दिल्ली क्षेत्र के अनियमित कालोनीयों में रह रहे लोगों ने जोरदार प्रदर्शन किया गया।

इस दौरान श्री बिधूड़ी जी ने अनधिकृत कालोनीयों में निवास कर रहे 50 लाख लोगों से केजरीवाल सरकार द्वारा किए गए वायदों का प्रदर्शन के माध्यम से स्मरण कराते हुए कहा कि ‘आप’ की सरकार ने दिल्ली की जनता से चुनाव पूर्व कहा था कि, अगर दिल्ली में ‘आप’ की सरकार बनेगी, तो एक वर्ष के भीतर अनधिकृत कालोनीयों को नियमित किया जाएगा और उनमें परिवर्तन स्वरूप, बिजली, पानी, सीवर, स्कूल, अस्पताल आदि की सुविधाएॅं मुहैया कराई जायेंगी, जो कि ‘आप’ की सरकार के घोषणा पत्र ;डंदपमिेजवद्ध के अनुसार है। आज दिल्ली सरकार के वायदे झूठे और नाकाम साबित हो रहे हैं, दिल्ली में अनधिकृत कालोनीयों के लोग पानी, बिजली, स्कूल, अस्पताल, जर्जर सड़कंे, जैसी समस्याओं के चलते नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। दक्षिणी दिल्ली क्षेत्र में लगभग 160 अनियमित कालोनीयॉं हैं, जैसें संगम विहार कालोनी क्षेत्रफल में काफी बड़ी कालोनी है, जिसके अलावा मीठापुर, देवली, रगंपुरी, आया नगर आदि बड़ी कालोनीयॉं हैं, जहॉं गंदे पानी की निकासी ना होने के कारण सडकों पर गंदा पानी भर जाता है, मानसून से पहले जिनकी बदतर स्थिति है, तो मानसून आने पर इस प्रकार की कालोनीयों का क्या होगा ? केजरीवाल सरकार द्वारा एक वर्ष से ज्यादा समय बीत जाने पर भी अनधिकृत कालोनीयों को नियमित करने के विषय में एक भी कदम नही उठाया गया है। जिससे साफ-साफ स्पष्ट होता है कि दिल्ली में अनियमित कालोनीयों में रह रहे 50 लाख लोगों को कालोनीयों के नियमितीकरण के नाम पर वोट प्राप्त करने के लिए गुमराह किया गया था।

इसके साथ ही श्री बिधूड़ी जी ने कहा कि केजरीवाल सिर्फ झूठ और गुमराह करने की राजनीति करते हैं, और विकास के नाम पर अब तक कुछ नही किया। तेजी से विकास का नारा देने वाली इस सरकार की ढुलमुल कार्य-प्रणाली से दिल्ली में विकास कार्य ठप्प पड़े हैं। पूर्व की सरकार व वर्तमान सरकार की कथनी और करनी एक समान साबित हो रही है, जिस कारण आज अनधिकृत कालोनीयों की दशा बद से बदतर बनी हुई है जिनमें अभी तक विकास जैसा कुछ दिखाई नही दे रहा है। दिल्ली के झुग्गी बस्ती, अनधिकृत कालोनी व गॉंवों के लोग आज अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहे हैं और बिजली, पानी, सीवर लाइन, स्कूल, अस्पताल आदि की समस्याओं से हताश होकर भीषण गर्मी में वायदों को पूरा करवाने के लिए सड़कों पर उतरे हैं, परन्तु आश्चर्य की बात यह है कि गॅूगीं-बेहरी केजरीवाल सरकार, के कानों पर जूॅं तक नही रेंग रही, जनता की समस्याओं को नजर अंदाज कर केजरीवाल सहाब अपना समय गोआ और पंजाब में बिता रहे हैं।

इस अवसर पर विजय पंड़ित ‘जिला अध्यक्ष’ छोटे राम ‘जिला अध्यक्ष एवं निगम पार्षद’, धर्मवीर अवाना ‘निगम पार्षद’, नीरज गुप्ता ‘निगम पार्षद’, सतेन्द्र चौधरी ‘निगम पार्षद’ पवन राठी ‘निगम पार्षद’, राजू पोसवाल ‘पूर्व निगम पार्षद’, विक्रम बिधूड़ी ‘पूर्व प्रत्याशी तुगलकाबाद विधान सभा’ रणवीर तंवर ‘महामंत्री महरौली जिला’ जगमोहन महलावत ‘महामंत्री दक्षिण जिला’ दीपक जैन ‘महामंत्री’ एवं मंडल अध्यक्षों सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।