आज 07 मार्च, 2020 को प्रातः 11 बजे माननीय प्रधानमंत्री जी ने देश भर में लगभग 6200 जन औषधि केन्द्र हैं जिन्हे केन्द्र सरकार के माध्यम से 700 जिले में चलाये जा रहे है उन सबको वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सम्बोधित किया और जन औषधि केन्द्रों में मिलने वाली जेनेटिक दवाईयों के लाभ के बारे में बताया, जो दवाईयां एलोपैथिक की बड़ी-2 कम्पनियों की दवाईयों की कीमत में 50 से 90 प्रतिशत तक सस्ती मिलती है जिनसे गरीब आदमी अपना इलाज कराने में सफल होता हैं और उन्हें कर्जे में नहीं डूबना पड़ता है, अतः जेनेटिक दवाईयों का लाभ उठाये जिससे गरीबों को बहुत ही फायदा होगा।

उसी कड़ी में पालम के अन्दर राजनगर में सांसद रमेश बिधूड़ी की उपस्थिति में खुलने वाली ‘‘जन औषधि केन्द्र’’ पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया जहां पर लगभग लाभार्थी, दुकान वाले लोग और आम नागरिक कम से कम 500 से 600 के बीच के लोग मौजूद थे सभी ने माननीय प्रधानमंत्री जी को विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से सुना। सम्बोधन में कहा गया कि आयुष्मान भारत जैसी योजना केजरीवाल ने दिल्ली में लागू नहीं की जिससे 5 लाख तक के गरीब लोगों को लाभ मिलता, मात्र मोहल्ला क्लीनिक खोलकर, छोटी-मोटी दवाईयों की व्यवस्था करके लोगों को गुमराह किया गया। अगर किसी को गम्भीर बीमारी हो रही है तो जन औषधि के माध्यम से लगभग 5 लाख तक लाभ मिल जाता किन्तु राजनैतिक कारणो से केजरीवाल ने इसे प्रारम्भ ही नहीं किया। इसी प्रकार से वहां पर उपस्थित लोगों को बताया कि हर आदमी ये संकल्प ले कि आस-पास के सभी लोगों को जन औषधि केन्द्र के बारे में बताये और जन औषधि केन्द्र से ही दवाईयां ले जिससे कि गरीबों को इसका लाभ मिले व माता बहनों के सम्मान के लिए मा़त्र 1 रूपये में सेनेट्री पैड मिल रहे हैं जो दुकानों पर लगभग 15 रूपये तक मिलते है साथ ही ये भी सूचना दे कि माता बहन इन्हीं दुकानों से वो सेनेट्री पैड भी ले और गरीब लोगों को बताये कि वो इलाज कराने के लिए इन औषधालयों से ही औषधि ले ताकि उन्हें लाभ हो जिससे बीमारी के कारण उन्हें जमीन, जेवर नहीं बेचने पड़ेंगे।

उसी कड़ी मेे माननीय प्रधानमंत्री जी ने जो आहवान किया है कि गरीबों की सेवा ही परमेश्वर की सेवा है। लोगों को जानकारी दी कि यदि कोई भी नौजवान जन औषधि केन्द्र खोलना चाहते हैं तो हमारे निगम पार्षद से सीधा सम्पर्क कर सकते है, और आप भी जन औषधि केन्द्र खोल सकते हैं। दक्षिणी दिल्ली में लगभग इस प्रकार के 12 जन औषधि केन्द्र थे जिसमें से 7 से 8 औषधि केन्द्र बन्द हो गए क्योंकि लोगों को विश्वास नहीं हो पा रहा था कि इतनी सस्ती दवा है इसकी क्या गारंटी है कि वह लाभप्रद होगी, लेकिन आज माननीय प्रधानमंत्री जी के सम्बोधन से उनकी विश्वसनीयता लोगों में है।

माननीय प्रधानमंत्री जी ही है जिनके अपील पर गरीबों के लिए लगभग सवा करोड़ परिवार वालों ने अपने रसोई गैस की सब्सिडी छोड़ दी थी, आज उसी तरह से माननीय प्रधानमंत्री के लिए लोगों में विश्वास बढ़ेगा और जेनेटिक दवाईयों का उपयोग लोग ज्यादा करेंगे और जन औषधि से ही लोग अपना इलाज करायेंगे जिससे वे अपने इलाज के खर्चें में कटौती कर सके। इसलिए पालम के अन्तर्गत राजनगर में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें सांसद रमेश बिधूड़ी ने सबको सम्बोधित किया। वहां पर स्टैन्डिंग कमेटी के चेयरमैन भूपेन्द्र गुप्ता, जोन के चेयरमैन, एमसीडी के इन्दरजीत, जिला महामंत्री पवन राठी, सत्यवान, जगमोहन, भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता शामिल थे।