आज दक्षिणी दिल्ली सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि) के अंतर्गत कालकाजी विधान सभा स्थित नवजीवन, नेहरू व भूमिहीन कैम्प गोविन्दपुरी में ऋण वितरण शिविर लगवाकर बैंक व निगम अधिकारियों द्वारा रेहड़ी-पटरी, फुटपाथ पर फल-सब्जियों के ठेले लगाने वाले गरीब लोगों को व्यवसाय हेतु 10 हजार रूपये का ऋण स्वीकृत करवाया। इस दौरान सैंकड़ों की संख्या में सड़क विक्रेताओं ने योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त किया।

इस अवसर पर सांसद बिधूड़ी ने लोगों को मोदी सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। बिधूड़ी ने कहा कि पीएम योजनाओं से जुड़ कर देश में गरीब अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति कर पा रहा है वह आत्मनिर्भर व सशक्त बन रहा है और सम्मान के साथ जीवन व्यतीत कर रहा है। बिधूड़ी ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण सड़क विक्रेता जो रेहड़ी-पटरी पर सामान बेचकर अपने परिवार का जीवन-यापन चलाते हैं ऐसे लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। लॉकडाउन के बाद उन्हें अपना व्यवसाय फिर से शुरू करने के लिए किसी अन्य व्यक्ति से कर्ज के लिए मोहताज ना रहना पड़े इस उद्देश्य से मोदी सरकार ने स्वनिधि योजना देश के गरीब रेहड़ी-पटरी वाले छोटे सड़क विक्रेताओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए शुरू की है। इस योजना के माध्यम से वह केन्द्र सरकार से 10,000 रूपये तक बगैर गारंटी के ऋण प्राप्त कर अपना खुद का व्यवसाय नए सिरे से शुरू कर सकते हैं और एक वर्ष के भीतर मासिक किस्तों के अनुसार उसे चुका सकते हैं। बिधूड़ी ने बताया कि जो स्ट्रीट वेंडर्स लिये गए लोन का भुगतान समय पर करेंगे तो उनके बैंक खाते में सात प्रतिशत (7ः) का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर मिलेगा और साथ ही वह अगले वर्ष दोगुनी 20 हजार ऋण राशि प्राप्त करने के भी पात्र होंगे।

इस कार्यक्रम में मध्य जोन नगर निगम चेयरपर्सन श्रीमती पूनम भाटी, अतिरिक्त आयुक्त पतंजलि प्रकाश, बैंक ऑफिसर आर.के. सिंह, पूर्व मंडल अध्यक्ष मनोज मौर्या, पूर्व मंडल महामंत्री मनोज गर्ग, अरूण बैसला उपस्थित थे।